रविवार, 21 अगस्त 2011

वशीकरण हेतु कामदेव मन्त्र

वशीकरण हेतु कामदेव मन्त्र
“ ॐ नमः काम-देवाय। सहकल सहद्रश सहमसह लिए वन्हे धुनन जनममदर्शनं उत्कण्ठितं कुरु कुरु, दक्ष दक्षु-धर कुसुम-वाणेन हन हन स्वाहा।
ऐं पिन्स्थां कलीं काम-पिशाचिनी शिघ्रं ‘अमुक’ ग्राह्य ग्राह्य, कामेन मम रुपेण वश्वैः विदारय विदारय, द्रावय द्रावय, प्रेम-पाशे बन्धय बन्धय, ॐ
शास्त्रों में बताए मानव जीवन के चार पुरूषार्थो में से धर्म, अर्थ और मोक्ष के अलावा काम भी अहम मान गया है। काम का देवता कामदेव को बताया गया है। धार्मिक दृष्टि से कामदेव जगत के सृजन चक्र को बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। जिसके लिए माना जाता है कि वह प्रकृति और प्राणियों में भाव रूप में मौजूद रहते हैं।

1 टिप्पणी:

  1. हे मान्यवर विप्र आपको नमन |आपने जगत के कल्याण हेतु कामदेव के इस मंत्र का यहाँ पर प्रस्तुति करण करके बहुत हि उपयोगी सेवाकी हे |

    उत्तर देंहटाएं