मंगलवार, 1 जून 2010

आपकी मुस्कान अनमोल है।

आपकी मुस्कान अनमोल है। साथ ही यह आपके व्यक्तित्व का आईना भी है। व्यक्ति के मुस्कराने का तरीका ही, दूसरों के मन में उसके प्रति पहला नजरिया तय करता है। किसी को देखते ही तुरंत जोर से हंस देना, जिंदगी के प्रति उसके गैर-जिम्मेदाराना रवैये को दर्शाता है। जबकि अगर कोई हल्के से मुस्कुराए, तो पता लगता है कि वह कितना गंभीर है। अधिकांश लोगों के लिए किसी से पहली बार मिलने पर मुस्कुराना संबंधों को आगे बढ़ाने की पहल होती है। तीन प्रकार की मुस्कानों का उल्लेख किया है। पहली दात दिखाती मुस्कान। दूसरी एक सभ्य मुस्कान और तीसरी महज औपचारिकता निभाने वाली मुस्कान। रास्ते में मिले किसी शख्स को देखकर तुरंत जोर से हंस देना, केवल दिखावटी होता है। जबकि किसी को देखकर धीमे से प्यार से मुस्कुराना उस व्यक्ति के प्रति आपके लगाव को दर्शाता है।'

1 टिप्पणी:

  1. Sharirik saranchan ke bare main vistar se likhe or yanha bhi bhraman kare - http://jyotish-samadhan.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं